AdventureBreakingDesh VideshEXCLUSIVEUttarakhandVishesh Khabar

उत्तराखंड में 3 दिन में दूसरी ट्रेकिंग टीम बर्फीले इलाके में फंसी, 10 सदस्यीय मुम्बई के ट्रेकिंग दल के एक सदस्य की मौत, बाकी की तलाश जारी

13 पोर्टर भी फंसे, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश का राहत बचाव दल ट्रेकर्स की तलाश में जुटी

उत्तराखंड,
उत्तराखंड के हिमाचल प्रदेश से सटे बर्फीले पहाड़ो में अब एक और ट्रेकिंग दल फंसने की खबरे आ रही है। जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के सीमांत जिले उत्तरकाशी के साँकरी हरकीदून से छिदकुल ट्रेकिंग रुट पर 23 सदस्यों का ट्रेकिंग दल फंसा हुआ है जिनमे से एक सदस्य की मौत होने की खबर है। जिस जगह पर यह दल फंसा हुआ है वह इलाका उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की सीमा पर है। छिदकुल क्षेत्र हिमाचल प्रदेश में पड़ता है। तीन दिन के भीतर दूसरा ट्रेकिंग दल बर्फीले पहाड़ो में फंस जाने और दो ट्रेकर्स की मौत हो जाने से उत्तराखंड सरकार में हड़कंप मचा हुआ है। बताया जा रहा है भारी बर्फबारी के कारण यह दल रास्ता भटक गया है। मुम्बई से 10 सदस्यों का एक दल उत्तराखंड के अति दुर्गम साँकरी हरकीदून के बर्फीले पहाड़ो पर साहसिक यात्रा के लिए 9 जून को आया था। इस दल ने ट्रेकिंग पर जाने के लिए 13 स्थानीय गाइड और पोर्टरों को साथ लिया था।
        गौरतलब है कि अभी 3 दिन पहले भी पश्चिम बंगाल के 9 सदस्यों का एक ट्रेकिंग दल केदारघाटी के पनपनिया ग्लेशियर में फंस गया था। जिसके एक सदस्य की दम घुट जाने से मौत  हो गई थी और बाकी 8 ट्रेकर्स को किसी तरह कल 13 जून की देर शाम को मदमहेश्वर वापस रेस्क्यू करके लाया जा सका था। अब एक और ट्रेकिंग दल के फंस जाने से उत्तराखंड सरकार परेशान है।
उत्तरकाशी के डीएम आशीष कुमार के अनुसार आज दोपहर बाद 14 जून को साँकरी हरकीदून से छिदकुल ट्रेकिंग रुट पर 23 सदस्यीय ट्रेकिंग दल के फंसने की सूचना मिली है। इस सूचना के बाद आपदा प्रबंधन दल की 12 सदस्यीय टीम के साथ आईटीबीपी की 17 वीं वाहिनी, और एनआईएस की एक संयुक्त रेस्क्यू टीम ट्रेकर्स की खोज और राहत बचाव के लिए भेजा गया है। अभी तक ट्रेकर्स का राहत बचाव टीम से कोई संपर्क नही हो पाया है। डीएम के अनुसार ट्रेकर्स की खोजबीन और बचाव के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार से भी संपर्क किया गया है। उंन्होने बताया कि उत्तरकाशी के एसडीएम और हिमाचल प्रदेश के छिदकुल के एसडीएम एक दूसरे के साथ आपस मे संपर्क बनाए हुए है। दोनों राज्यो का आपदा प्रबंधन विभाग स्थिति पर नजर बनाए हुए है और ट्रेकर्स टीम की तलाश और बचाव में जुटा हुआ है।
     आईटीबीपी भी ट्रेकर्स की तालाश में जुटी हुई है। 17 वीं वाहिनी आईटीबीपी के कमांडेंट अर्जुन नेगी ने बताया कि इस ट्रेकिंग दल के फंसने की जानकारी सीमा पर बनी आईटीबीपी की 15 वीं वाहिनी की चेक पोस्ट पर दो ट्रेकर्स ने ही दी थी। तभी से 15 वी वाहिनी उनकी तलाश कर रही है।
     उत्तरकाशी आपदा नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार छिदकुल ट्रेकिंग रुट हिमाचल प्रदेश में उत्तराखंड की सीमा से सटा हुआ है। उत्तरकाशी के साँकरी हरकीदून से यह रास्ता सीधा हिमाचल प्रदेश को ही जाता है। यह ट्रेकिंग रुट अति दुर्गम और खतरनाक बताया जाता है। नियंत्रण कक्ष के अनुसार  ट्रेकर्स के बारे में पूरा ब्यौरा अभी तक नही मिल पा रहा है। जानकारी के अनुसार भारी बर्फबारी की वजह से यह दल रास्ता भटक गया है और हिमाचल प्रदेश के बर्फीले अति दुर्गम इलाके में कंही फंसा हुआ है। भारी बर्फबारी से ही एक ट्रेकर्स की मौत होने की आशंका जताई जा रही है।
Show More

Related Articles

Close