BreakingEXCLUSIVEHARIDWARVishesh Khabar

गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए डीएम दीपक अनूठी पहल, अब अधिकारी करेंगे गंगा की सफाई, बेहतर प्रदर्शन दिला सकता है अवॉर्ड

हरिद्वार।
गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए हरिद्वार के जिलाधिकारी ने की है एक नई पहल।इस पहल के तहत जनपद में तैनात विभिन्न विभागों के अधिकारी और कर्मचारी अलग अलग जगह पर गंगा और घाटों की साफ सफाई करेंगे। जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों को गंगा नदी घाट क्षेत्र आंवटित करते हुए अधिकारियों एवं कर्मचारियों को गंगा एवं गंगा नदी घाटों की सफाई के आदेश दिये हैं। विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी अपने-अपने आवंटित क्षेत्र में अवकाश के दिनों में या फिर अपनी सुविधानुसार चयनित दिनों में गंगा एवं गंगाघाटों की साफ-सफाई करेगें।
जिलाधिकारी ने अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा है कि उनकी चरित्र प्रविष्टी में भी गंगा एवं गंगा नदी घाटों के स्वच्छता कार्य का अंकन किया जायेगा। इसके अलावा स्वच्छता के क्षेत्र में अच्छा कार्य करने वाले विभाग को उच्च स्तर से सम्मान पत्र दिलाये जाने की संस्तुति की जायेगी। उन्होंने कहा है कि गंगा स्वच्छता के लिए अधिकारियों व कर्मचारियों का योगदान आमजनता ओर श्रद्धालुओं के लिए प्रेरणा का कार्य करेगा। उन्होंने स्वच्छता कार्य के लिए आवश्यक उपकरणों की मांग पूरी करने का आश्वासन विभागीय अधिकारियों को दिया हैं।

आतिक्रमण हटाने गए डीएम को देख दुकान छोड़ भागा, पान बीड़ी के खोके की आड़ में बेच रहा था विदेशी पव्वे,आबकारी अधिनियम के तहत मुक़दमा दर्ज,दुकान सीज

 

गंगा घाटों के स्वच्छता कार्य के लिए जिलाधिकारी श्री रावत द्वारा जिलाधिकारी कार्यालय एवं कलक्ट्रेट स्थित विभिन्न कार्यालयों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सीसीआर टावर से सब्जी मण्डी पुल तक का क्षेत्र आवंटित किया गया है जिसके प्रभारी अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) होगें
  1. इसी प्रकार विकास विभाग में उपलब्ध सभी कार्यालयों के अधिकारियों व कर्मचारियों को खड़खड़ी शमशान घाट से जनाना घाट हरकी पैड़ी से पूर्व में डाउन स्ट्रीम तक का क्षेत्र दिया गया है जिसके प्रभारी जिला विकास अधिकारी होंगे।
  2. नगर निगम हरिद्वार के अधिकारियोंव कर्मचारियों को हरकी पैड़ी, सुभाष घाट व रामघाट का सम्पूर्ण क्षेत्र(नगर निगम की नियमित व्यवस्था के अलावा) सौंपा गया है जिसके प्रभारी सहायक नगर अधिकारी होंगे।
  3. ग्रामीण अभियन्त्रण सेवा के अधिकारियोंव कर्मचारियों को सब्जी मण्डी पुल से ललताराव पुल तक नदी के दोनों तरफ तक का क्षेत्र दिया गया है।इस क्षेत्र के प्रभारी अधिशासी अभियन्ता ग्रामीण अभियन्त्रण सेवा होंगे।
  4. लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ललताराव पुल से गणेशघाट से डामकोठी न0-3 तक का गण ओर घाटियों की सफाई का काम करेंगे।इस क्षेत्र का प्रभारी अधिशासी अभियन्ता प्रान्तीय खण्ड हरिद्वार को बनाया गया है।
  5. पर्यटन विभाग एवं होटल अलकनन्दा के अधिकारियों वकर्मचारियों को ललताराव पुल से होटल अलकनन्दा तक का क्षेत्र सफाई के लिए दिया गया है। जिसके प्रभारी जिला पर्यटन विकास अधिकारी एवं प्रबन्धक होटल अलकनन्दा रहेंगे।
  6. सिंचाई विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को डामकोठी न0-3 से प्रेमनगर आश्रम पुल तक सिंचाई विभाग कालोनी की तरफ का सम्पूर्ण क्षेत्र आबंटित किया गया है, जिसके प्रभारी अधिशासी अभियन्ता सिंचाई खण्ड, उत्तरी खण्ड गंगा नहर होंगे।
  7. सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश के अधिकारियों व कर्मचारियों को डामकोठी न0-1 से प्रेमनगर आश्रम पुल तक राष्ट्रीय राजमार्ग की तरफ का सम्पूर्ण मार्ग एवं होटल अलकनन्दा से बैरागी कैम्प विद्युत विभाग के कार्यालय तक का सम्पूर्ण क्षेत्र दिया गया है,जिसके प्रभारी सहायक अभियन्ता उत्तरी खण्ड गंगा नहर होंगे।
  8. विद्युत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को बैरागी कैम्प स्थित पुलिया से गंगा नदी स्थित घाट का 250 मीटर क्षेत्र(विद्युत विभाग के कार्यालय के पीछे का पूर्ण क्षेत्र) सौंपा गया है जिसके प्रभारी अधिशासी अभियन्ता विद्युत हरिद्वार को बनाया गया है।
  9. जिला पंचायत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को बैरागी कैम्प स्थित पुलिया से 50 मीटर आगे से घाट का सम्पूर्ण क्षेत्र दिया गया है जिसके प्रभारी अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत होंगे।
  10. इसी तरह जल निगम हरिद्वार के अधिकारियों और कर्मचारियों को कनखल स्थित तिलभांडेश्वर मन्दिर, सती घाट से शमशान घाट तक के दोनों तरफ का सम्पूर्ण क्षेत्र आबंटित किया गया है ।इसका प्रभारी अधिशाषी अभियन्ता जल निगम को बनाया गया है।
  11. हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण के अधिकारियों व कर्मचारियों को शमशानघाट कनखल से श्रीयंत्र मन्दिर तक दक्ष मन्दिर के सामने वाला सम्पूर्ण घाट दिया गया है जिसके प्रभारी सचिव हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण रहेंगे।
  12. शिक्षा विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को शमशानघाट कनखल से श्रीयंत्र मन्दिर, सती मन्दिर की तरफ वाला सम्पूर्ण घाट क्षेत्र जिसके प्रभारी मुख्य शिक्षा अधिकारी होंगे।
  13. निर्माण एवं अनुरक्षण ईकाई (गंगा) पेयजल निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को रामदेव की पुलिया से कनखल स्थित चोर गली पुलिया स्थित शिव मन्दिर तक के नहर के दोनों तरफ का क्षेत्र जिसके प्रभारी परियोजना प्रबन्धक निर्माण एवं अनुरक्षण इकाई(गंगा)बनाये गए है।
  14. जल संस्थान सीवर के अधिकारियों व कर्मचारियों को चोर गली कनखल में स्थित पुलिया शिव मन्दिर से डाउन स्ट्रीम में दक्ष मन्दिर को जाने वाली पुलिया तक नहर के दोनों तरफ का सम्पूर्ण क्षेत्र आवंटित किया गया है जिसके प्रभारी अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान होगें।

भाभी जी अब घर पर नहीं आपको मिलेगी ऋषिकेश में, यंहा भी अपनी हँसोड़ हरकतों से बाज नहीं आ रहे टीका,मलखान,सक्सेना, तो हप्पू सिंह लगे है न्योछावर के जुगाड़ में

 

उत्तराखंड के शहीद को हजारों लोगों ने नम आखो से दी अंतिम विदाई, पूरा देश रो रहा है शहीद की बेटी की इस तस्वीर को देखकर, आप भी नही रोक पाएंगे अपने आंसू

Show More

Related Articles

Close