BreakingCrimeDesh VideshDharm AdhyatmHARIDWAR

वायरल वीडियो में जैन मुनि के साथ दिखी अपहृत युवती अचानक पंहुच गई थाने, अपहरण के आरोपो को बताया गलत,कहा परिजनों से है जान का खतरा

हरिद्वार,

जैन मुनि नयन सागर द्वारा एक लड़की के अपहरण मामले में नया मोड़ आ गया है। अपहृत बताई जा रही लड़की आज खुद ही हरिद्वार पुलिस के पास पंहुच गई। लड़की ने जैन मुनि पर अपहरण के आरोपो को गलत बताते हुए पुलिस को बयान दिया है कि वो 28 जुलाई को अपनी मर्जी से गई थी। लड़की ने पुलिस को यह नही बताया कि वह कंहा गयी थी। लड़की ने अपने परिजनों के पास भी जाने से साफ इंकार कर दिया और अपने ही जैन समाज से अपनी जान को खतरा बताया है। आज लड़की को पुलिस ने हरिद्वार में अदालत में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जंहा उसके कलमबद्ध बयान दर्ज किए गए।


जैन धर्म के आध्यात्मिक गुरु जैन मुनि उपाध्याय नयन सागर जी महाराज के ऊपर जिस लड़की के अपहरण का आरोप लगाया था वह लड़की आज एकाएक सामने आई और पुलिस के पास पंहुच गयी। खतौली निवासी कृति जैन नाम की यह लड़की हरिद्वार के कोर इंजीनियरिंग कॉलेज में एमटेक की छात्रा है और 28 जुलाई से कॉलेज से लापता थी। दो दिन पहले ही उसके पिता ने हरिद्वार के बहादराबाद थाने में जैन मुनि नयन सागर पर बहला फुसला कर अपहरण किये जाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। जैन मुनि पर अपहरण का मामला दर्ज होने के बाद हड़कंप मच गया था और हरिद्वार पुलिस मामले की जांच में जुट गई थी। आज जब हरिद्वार पुलिस जैन मुनि से पूछताछ के लिए चंडीगढ़ और सहारनपुर जाने की तैयारी कर रही थी तभी अचानक ही आज दोपहर गुपचुप रूप से कृति जैन बहादराबाद थाने पंहुची और जैन मुनि द्वारा अपहरण किये जाने के आरोपो को गलत बताया। बहादराबाद थाना प्रभारी मनोहर सिंह ने बताया कि लड़की ने पुलिस को दिए बयान में कहा ही वह अपनी मर्जी से गई थी। उसका अपने पति के साथ तलाक का मामला चल रहा है जिससे वह परेशान चल रही है। उंन्होने बताया कि लड़की ने अपने माता पिता के पास जाने से भी इंकार करते हुए कहा कि उसे उसके जैन समाज से जान का खतरा है। लड़की ने पुलिस को बताया कि वायरल वीडियो की वजह से उसके परिजन और समाज के लोग उसे नुकसान पंहुच सकते है।


अपहृत बताई जा रही लड़की कृति जैन के बयान के बाद पुलिस उसे लेकर हरिद्वार जिला न्यायालय पंहुची। इस मामले की जांच कर रहे बहादराबाद थाने के उप निरीक्षक अजय सिंह दो महिला कांस्टेबलों के साथ एक निजी कार से कृति को लेकर कोर्ट आये थे। उसे लेकर वह सीधे मजिस्ट्रेट के चैम्बर में गए।


सरकारी वकील कुशल पाल सिंह चौहान ने बताया कि कृति जैन को न्यायिक मजिस्ट्रेट अपर सिविल जज प्रथम गगन दीप शर्मा की अदालत में पेश किया गया। इसके बाद अपर सिविल जज द्वितीय सचिन कुमार की अदालत में उसके बयान 164 सीआरपीसी में दर्ज किए गए। पुलिस कृति को जैन मुनि द्वारा अपहरण किये जाने के दर्ज मामले में कोर्ट में पेश करने को लेकर आई थी।
पुलिस कृति को लेकर केवल 27 मिनट ही कोर्ट में रही। इसके बाद उसे लेकर चली गयी।

लड़की के परिजन कृति अपहरण मामले में जैन मुनि उपाध्याय नयन सागर महाराज पर अपहरण का आरोप लगा रहे थे। हाई प्रोफाइल मामला होने की वजह से पुलिस काफी एतिहात बरत कर जांच कर रही थी। पुलिस ने कृति की काल डिटेल भी खंगाली। पुलिस जैन मुनि से पूछताछ करने के लिए चंडीगढ़ जाने की तैयारी कर रही थी। पुलिस की एक टीम मुजफ्फरनगर के वहलना के दिगंबर जैन मंदिर की धर्मशाला में जाने वाली थी। जिस वायरल वीडियो में लड़की जैन मुनि के साथ दिखाई दे रही है वह वहलना की ही है।

कृति जैन अपहरण मामले में लड़की के अपनी मर्जी से जाने के बयान देने से लड़की के परिजन हैरान है। लड़की के चाचा मधुकर जैन का आरोप है कि लड़की के अचानक ही पुलिस के सामने आने और मर्जी से जाने के आरोप के पीछे कोई बड़ा खेल खेला जा रहा है। उंन्होने कहा कि कृति के लापता होने और अचानक सामने आने के पीछे जैन मुनि और पुलिस की मिलीभगत है। उंन्होने फ्रंट पेज न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि अगर लड़की पुलिस के पास आई थी तो पुलिस प्रशासन को हमे सूचित करना चाहिए था, क्योंकि हमने उसके अपहरण का मामला दर्ज कराया था। मगर पुलिस ने हमे सूचित करना भी उचित नही समझा। उंन्होने कहा कि आखिर ऐसी क्या जल्दी थी कि तुरत फुरत में ही हमे बताए बिना ही कोर्ट में पेश कर बयान भी दिलवा दिए गए। यही नही लड़की को मीडिया के सामने भी पेश नही किया गया। उंन्होने आरोप लगाया कि पुलिस का रवैया ठीक नही है और लड़की से साजिश के तहत ही बयान दिलवाया गया है। उसके उसे परिजनों और समाज से जान का खतरा है का बयान दिलवाया ताकि अगर लड़की के साथ कल को कुछ हादसा हो जाता है तो हमे फंसाया जा सके। उंन्होने कहा कि पुलिस सब कुछ जैन मुनि के इशारे पर कर रही है और उन्हें पूरे परिवार को जैन मुनि से जान का खतरा है।

हरिद्वार के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज कोर की छात्रा के अपहरण मामले में लड़की के अपहरण से इनकार के बाद भले ही हरिद्वार पुलिस ने चैन की सांस ली हो मगर लड़की के पुलिस को दिए बयान के बाद भी यह अभी तक साफ नही हो सका है कि वायरल वीडियो में वह जैन मुनि के साथ कैसे दिखाई दे रही है।

Show More

Related Articles

Close